मंगलवार, 6 नवंबर 2007

यह हंसराज वकील कौन है?

यदि लाल किले के सामने से बस में बैठ कर आप कभी गुजरे हों, और आप हंसराज वकील का नाम नहीं जानते हों। इसकी संभावना कम है। इस वकील के नाम पर लाल किले के सामने छोटी-छोटी बच्चियां आने-जाने वालों से पैसों की वसूली करती हैं। इन बच्चियों को भिखारी कहना गलत है, वास्तव में हालात को देखकर लगता है कि यह मजदूर हैं, जो किसी खास व्यक्ति के लिय यह काम करती हैं, दुःख की बात सिर्फ इतनी है कि यह सारा काम वह लाल किले के सामने खडे होकर करती हैं। और वहाँ पुलिस-प्रशासन का इतना इंतजाम है, मगर इस बात पर आज तक किसी की नजर न गई हो यह बात मानने वाली नहीं है। जिस हंसराज वकील के नाम से बच्चियां पैसा वसूलती हैं, क्या पुलिस ने कभी यह जानने की कोशिश कि यह हंसराज कौन है, जो पिछ्ले ना जाने कितने वर्षों से से छोटी बच्चियों को भीख मांगने की चिट्ठी बाँट रहा है। यदि आपने यह चीट्ठी नहीं पढी, और पढ़ना चाहते हैं तो एक बार बस से लाल किले की तरफ यात्रा पर निकल जाइय जनाब।

2 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

हमने तो नहीं पढ़ी-कभी जायेंगे लाल किले तो पढ़ लेंगे. अच्छा किया बता दिया.

नितिन व्यास ने कहा…

बहुत से हंसराज है हर जगह..

आशीष कुमार 'अंशु'

आशीष कुमार 'अंशु'
वंदे मातरम