शुक्रवार, 28 नवंबर 2008

मुंबई में शहीद हुए सेना के जवानों के लिए ...


दो शब्द
एक नमन, एक प्रणाम
मुम्बई हो या अक्षरधाम,
खाकी वर्दी की कुर्बानी
याद रखेगा हिन्दुस्तान.
--राजेश चेतन

2 टिप्‍पणियां:

Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

देश के लिए शहीद होने वालों को शत्-शत् नमन

Anil Pusadkar ने कहा…

शहीदो को मेरी भी श्रद्धाँजलि.

आशीष कुमार 'अंशु'

आशीष कुमार 'अंशु'
वंदे मातरम