शनिवार, 21 फ़रवरी 2009

कम से कम बद्दुआ ही देते जाओ -०९९१०४५३३८६-०९९९९४२८२१३

शंभू शिखर मेरे दोस्त का नाम है. वह पिछले दिनों राजघाट के पास एक दुर्घटना का शिकार हुआ और डाक्टर ने एक महीने बिस्तर पर रहने की सलाह दे डाली. अब शंभू जिसे हमेशा भागने की आदत है .. यहाँ से वहाँ और वहाँ से यहाँ. इस तरह तो फंस गया - अब भी वह कभी-कभी जीद कर बैठता है- उसे बाहर जाना है. शंभू का थोडा परिचय- वह २००२-०५ तक दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न प्रतियोगिताओं में नजर आता रहा. खूब इनाम बटोरे. लाफ्टर चैलेंज (स्टार वन) में भी नजर आया. उसके बाद दिल्ली से पटना तक के लाफ्टर के कार्यकमों में वह दिखने लगा. जब मैंने पूछा 'बीमारी में तो खूब सारे फोन आ रहे होंगे तुम्हारे पास दुआ-सलाम के', शंभू ने अपने लाफ्टर अंदाज में कहा- 'दुआ की कौन कहे, बद्दूआ वाले फोन भी नहीं आ रहे.' अब मैं शंभू के लिय क्या कर सकता हूँ, इतना तो कर ही सकता हूँ कि उसका नंबर आपको बता दूँ. और दुआ-बद्दुआ- सलाम (आप चाहें तो कर सकें) --- ०९९१०४५३३८६-०९९९९४२८२१३ शंभू दिल्ली में है. आप उससे बात कर सकते हैं - जानते हों फ़िर भी और ना जानते हों फ़िर भी.
वह बुरा नहीं मानेगा। विश्वास रखिए। (हा हा हा हा ...)

10 टिप्‍पणियां:

इष्ट देव सांकृत्यायन ने कहा…

हुम! शम्भू को तो आपको ब्लॉग लिखना सिखा देना था न!

गिरीन्द्र नाथ झा ने कहा…

जल्दी ठीक हो जाओ शंभू जी..थोड़ा मुस्कुराईए न

नीरज गोस्वामी ने कहा…

वो जल्दी से ठीक हो कर दुबारा ठहाके लगाने हमारे बीच आए ...ये ही कामना है .


नीरज

मुसाफिर जाट ने कहा…

आशीष जी,
अभी मारता हूँ ट्राई
शट यार, बैटरी डाउन है. चलो थोडी देर में करता हूँ. वोडाफोन का ही नंबर है ना?

prabhat gopal ने कहा…

are yar rajyog hai. aaram karne do.

उन्मुक्त ने कहा…

शंभू जी जल्दी ठीक हों।

hempandey ने कहा…

शंभू जी के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना है.

SHAMBHU SHIKHAR शम्भू शिखर ने कहा…

hain main raajyog bhoj rha hun....

NILAMBUJ ने कहा…

खूब दिलकश है ये अंदाज़ बहुत,
खामुशी कह रही है राज़ बहुत.

अभी कुछ मर तो नहीं जायेंगे,
गो तबियत से हैं नासाज़ बहुत."--- नीलाम्बुज

श्याम सखा ‘श्याम’ ने कहा…

न गिला करता हूं न सूखा करता हूं
तू सलामत रहे दुआ करता हूं ?
आदाब ?

आशीष कुमार 'अंशु'

आशीष कुमार 'अंशु'
वंदे मातरम