गुरुवार, 10 सितंबर 2009

हम ना बोलें_ बोलेगी तस्वीर







इस बार आप सब के लिए कुछ अच्छे विज्ञापन. मेरी समझ से ये विज्ञापन कम शब्दों में बड़े सन्देश देने में कामयाब है. यदि इन तस्वीरों का सन्देश बखूबी आप तक पहुँच रहा हो तो समझा जा सकता है. यह सफल विज्ञापन है. (ये सभी तस्वीरें दीपिका के जानिब से आई हैं वाया मेल.)

6 टिप्‍पणियां:

Ankur ने कहा…

wo din door nahi hain jab hum wakai hi light key liye khambo ki pooja kar rahey hongey

bahut khoob kafi sari batey kah gayi hain yeh tasveery

आशीष कुमार 'अंशु' ने कहा…

@अंकुर- अंकुर भाई ये क्या कर दिया _ यह विज्ञापन तो वृक्षारोपण को लेकर था और आप इसे बिजली की समस्या से जोड़ बैठे... जय हो

विनोद कुमार पांडेय ने कहा…

संदेश देती हुई सुंदर चित्रांगण..
बधाई..

Dipti ने कहा…

आखरी तस्वीर मज़ेदार लगी...

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत बढ़िया..कल ही ईमेल आया.

bebakbol ने कहा…

ये बात लफ्जो से इस तरह बयां न हो पाती... जैसे इन तस्वीरों ने कह दी.. लाजबाब..
-हिमांशु डबराल
www.bebakbol.blogspot.com

आशीष कुमार 'अंशु'

आशीष कुमार 'अंशु'
वंदे मातरम