बुधवार, 2 जून 2010

राजीव गांधी का पुनर्जन्म या नई दुनिया की भूल

6 टिप्‍पणियां:

Rajiv ने कहा…

राजीव गाँधी टाइप ही लग रहा है. कौन है ई?

माधव ने कहा…

rahul gandhi

Shah Nawaz ने कहा…

:-)

honesty project democracy ने कहा…

ये ना तो किसी की भूल है और ना ही किसी का पुनर्जन्म ,ये राहुल गाँधी के मरते लोकप्रियता को थोडा जीवित करने का एक ड्रामा है |

योगेन्द्र जोशी ने कहा…

महापुरुष का अंशावतार । ईश्वर एक ही काल में विविन्न स्थानों और एक ही स्थान पर विभिन्न कालों में अवतरित हो सकता है । ऐसा ही कुछ घटित हुआ होगा !
योगेन्द्र जोशी (http://hinditathaakuchhaur.wordpress.com)

योगेन्द्र जोशी ने कहा…

महापुरुष का अंशावतार । ईश्वर एक ही काल में विविन्न स्थानों और एक ही स्थान पर विभिन्न कालों में अवतरित हो सकता है । ऐसा ही कुछ घटित हुआ होगा !
योगेन्द्र जोशी (http://hinditathaakuchhaur.wordpress.com)

आशीष कुमार 'अंशु'

आशीष कुमार 'अंशु'
वंदे मातरम