शुक्रवार, 8 अगस्त 2008

यह गरीबी भी काबिलेगौर है ...

एक अमीर लड़की को School में गरीब परिवार पे Essay लिखने को कहा गया।
ESSAY :
एक गरीब परीवार था, पीता गरीब,माँ गरीब, बच्चे गरीब.परीवार में 4 नौकर थे, वोः भी गरीब.SCORPIO Car भी टूटी हुई थी.उनका गरीब driver बच्चों को उसी टूटी Car में School छोड़ के आता था.बच्चों के पास पुराने N95 Mobile था.बच्चे हफ्ते में सीर्फ 3 बार ही HOTEL में खाते थे.घर में केवल चार 2nd Hand A.C. थे.सारा परीवार बड़ी मुश्कील से ऐश कर रहा था.!!

3 टिप्‍पणियां:

शोभा ने कहा…

अंशु जी
बहुत खूब। अच्छा व्यंग्य है। जिन्होने गरीबी देखी ही नहीं वो और क्या लिखेंगें ?

शोभा ने कहा…

अंशु जी
बहुत खूब। अच्छा व्यंग्य है। जिन्होने गरीबी देखी ही नहीं वो और क्या लिखेंगें ?

Mired Mirage ने कहा…

जो देखा नहीं,सहा नहीं उसके बारे में ऐसे ही लिखा जाएगा। यदि गरीब से अमीरी के बारे में लिखवाओगे तो वह भी कुछ ऐसा ही होगा।
घुघूती बासूती

आशीष कुमार 'अंशु'

आशीष कुमार 'अंशु'
वंदे मातरम