मंगलवार, 16 मार्च 2010

रेखा सूर्या_ आमिर खुसरो की ग़जल (१९ मार्च १०)

2 टिप्‍पणियां:

Dr. Smt. ajit gupta ने कहा…

भैया गजल कहा हैं? कोई पत्र नहीं, कोई फोन नहीं? कुछ विशेष व्‍यस्‍तता।

Udan Tashtari ने कहा…

सुनकर रिपोर्ट दिजियेगा.

आशीष कुमार 'अंशु'

आशीष कुमार 'अंशु'
वंदे मातरम